भारत में पदक से ज्यादा महिलाओं की फिटनेस बड़ा मुद्दा

हमारे देश में महिलाओं के ओलंपिकओलंपिक में पदक जीतने से बड़ा मुद्दा भारत की आम महिलाओं की फिटनेस है।
मध्यम और निम्न वर्ग की तो बात ही छोड़िए, उच्च वर्ग की महिलाएं भी अपनी फिटनेस के प्रति जागरूक नहीं हैं।
मेरे विचार से हर मां,हर अभिभावक व हर शिक्षक का दायित्व है कि वे अपनी बेटियों को फिटनेस के प्रति जागरूक करें।
इस विषय पर विस्तृत चर्चा फिर कभी लेकिन परिषद में विचार के लिए कुछ बिंदु दे रहा हूं :

1.नियमित योग,व्यायाम,सैर व नृत्य। संभव हो तो स्विमिंग व खेल।

  1. संतुलित व पोष्टिक आहार। फल, हरी सब्जियां व अंडे

3.घर के अत्याधिक कार्य भार में कमी ताकि वे स्वास्थ्य को फोकस कर सकें

4.बच्चे के जन्म के समय माँ को देशी घी की ‘ओवरडोज़’ के बजाय संतुलित आहार

5.आयरन व कैल्शियम की कमी के प्रति जागरूकता

6.न्यूनतम आठ घंटे की नींद

  1. रोजाना छः से आठ गिलास पानी

Ved Mathur
photo by- Neeraj Gaur

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *