April 1, 2020
Health

11 वर्षो बाद अपने हाथो से भोजन खाने में सक्षम हुआ लाइबेरिया का इब्राहीम

लाइबेरिया निवासी 15 साल के मोहम्मद इब्राहीम मोरिंगा का जन्म श्सिकल सेल एनीमिया रोग के साथ हुआ। इस बीमारी में मानव शरीर की लाल रक्त कोशिकाएं असामान्य होती हैं । रोगी के शरीर में पानी की कमी के कारण यह असामान्य कोशिकाएं धमनियों में रुकावट पैदा कर रक्त के प्रवाह को बंद कर सकती है। इसी कारण साल 2008 में इब्राहीम को मस्तिष्क में स्ट्रोक हुआ, और उसके शरीर के अंगों में शिथिलता आने लगी। पैरों से शुरू हूई कमज़ोरी धीरे.धीरे शरीर के ऊपरी अंगों में भी होने लगी और अंतत: वह शय्याग्रस्त हो गया। किसी भी प्रकार की शारीरिक गतिविधि करने में असमर्थ था और अपने सामान्य दैनिक कार्यो के लिए भी वह दूसरों पर निर्भर हो गया । इब्राहीम की इस अवस्था को देख उसके पिता उसका इलाज कराने के लिए भारत आएए जहां धर्मशिला नारायणा सुपरस्पेशियलिटी हॉस्पिटल के सीनियर डॉक्टरों द्वारा इब्राहीम का उपचार किया गया।

लम्बी अवधी से चली आ रही इस शिथिलता के कारण इब्राहीम की मांसपेशियों में काम करने की क्षमता समाप्त होने लगी और जोड़ भी विकृत हो गए। इब्राहीम की यह अवस्था मांसपेशियों में जकडऩ के काऱण हुई थी, जो असामान्य तंत्रिका नियंत्रण से होता है। इस अवस्था में आने से पहले अपने स्कूल में फुटबॉल खेलने वाला इब्राहीम अब अपने हाथ से एक निवाला खाने में भी असमर्थ हो गया था । इब्राहीम के पिता जो कि लाइबेरिया के एक राजनयिक है, अपने बेटे को इस हाल में देखकर बेह़द दुखी थे।
धर्मशिला नारायणा सुपरस्पेशियलिटी हॉस्पिटल के डॉक्टर आशीष श्रीवास्तव एचओडी एंड सीनियर कंसलटेंट, न्यूरो सर्जरी डिपार्टमेंट और डॉक्टर अभिनव गुप्ता, सीनियर कंसलटेंट न्यूरो सर्जरी बताते है कि हमने उसका इलाज बैक्लोफेन नामक दवाई से शुरू कियाए जो कि जकडऩ स्पास्टिसिटी को कम करती है। बैक्लोफेन के 25 माइक्रोग्राम का एक इंजेक्शन रीढ़ कि हड्डी के रास्ते मस्तिष्क में बहने वाले पानी ; सेरेब्रोस्पाइनल फ्लुइड में दिया गया। इस दवाई के पश्चात इब्राहीम अपने हाथ से कुछ खाने में सक्षम हो गया। वह ग्यारह साल के बाद अपने हाथों और पैरों से काम ले पाया। बैक्लोफेन की सफलता को देखते हुए डॉक्टरों ने इब्राहीम की रीढ़ में एक दवा वितरण पंप डाला जिससे बैक्लोफेन की अत्यंत छोटी मात्रा को निरंतर सेरेब्रोस्पाइनल फ्लूइड में भेजा जा सके।
परिणामस्वरुप इब्राहीम के अंगो में निरंतर सक्षमता बढ़ रही है। अब इब्राहीम को मांसपेशियों की जकडऩ को कम करने की आवश्यकता होगी। गहन व्यायाम द्वारा शरीर के अंगो की क्षमता व नियंत्रण में लाभ होगा।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *