July 16, 2019
TV

अंजलि प्रिया का मानना है कि वह कुछ भी कर सकती हैं!

कास्टिंग डायरेक्टर से एक्टर बनीं अंजलि प्रिया नौसिखिया होने का सही उदाहरण हैं और उनका मानना है कि वर्तमान समय में खासतौर से किसी एक चीज में पारंगत होना अलग बात है, हर व्यक्ति को कम से 2.3 हुनर तो आना ही चाहिये, भले ही वह उसका इस्तेमाल करे या ना करे, लेकिन सीखना जरूर चाहिये। मैं भी अर्धांगिनी की अभिनेत्री के व्यक्तित्व के कई सारे रूप हैं, जो उनके हर अंदाज को खास बनाता है। अंजलि एक प्रशिक्षित कत्थक डांसर हैं। इतना ही नहीं शॉट्स के बीच में वह थोड़ा बैले डांस भी सीखती हैं। इस अभिनेत्री को गाना भी पसंद हैए वैसे वह खुद को इस मामले में खुशकिस्मत नहीं मानतीं। लेकिन यह बात उन्हें गाना गाने से रोक नहीं पाती। अंजलि ने मार्शल आट्र्स में भी बेसिक ट्रेनिंग ली है और साथ ही तलवारबाजी के भी कुछ गुर सीखे हैं। साथ ही अपने खाली समय में थोड़ा डूडलिंग करना भी पसंद करती हैं।
मैं भी अर्धांगिनी की कहानी के मौजूदा ट्रैक में चित्रा के सर्वगुण संपन्न वाले रूप को दिखाया जा रहा है, जोकि अंजलि के वास्तविक जीवन से काफी मिलती.जुलती है। कई लोग यह सोच सकते हैं कि ढेर सारी चीजों पर फोकस करना दृढ़ता की बजाय एक कमजोरी है, लेकिन अंजलि ऐसा नहीं मानती हैं, उनका कहना हैए आपके पास सिर्फ एक जिंदगी है, तो फिर क्यों ना वे सभी चीजें की जायें जो आपको पसंद हों। अपने पसंद की हर चीज करने और सीखने की कोशिश करें, चाहे वह डांस होए कोई नया हुनर हो या फिर कोई भी ऐसी चीज जो चलन में हो।
इस अभिनेत्री के पास उन चीजों की एक सूची है, जिन्हें वह रचनात्मक रूप से करना चाहती हैं। हर बार वह कुछ नया सीखना चाहती हैं और फिर वह उस सूची पर निशान लगा देती हैं। अंजलि साल में दो महीने कुछ नया और रोचक सीखने के लिये छुट्टी पर रहती हैं। इससे जीवन और भी रोमांचक हो जाता है।
सही ही कहा गया है। भविष्य उसी का है जो ज्यादा से ज्यादा हुनर सीखता है और उन्हें रचनात्मक रूप में शामिल करता है। तो फिर अंजलि के नक्शेकदम पर चलें!

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *