September 23, 2019
Health

25 वर्षों से सशक्त भारत की नींव को कैंसर मुक्त करता धर्मशिला नारायणा सुपरस्पेशलिटी हॉस्पिटल

धर्मशिला नारायणा सुपरस्पेशलिटी अस्पताल ने 1.5 लाख मरीजों के इलाज के रिकॉर्ड के साथ सफलतापूर्वक 25वीं वर्षगांठ पूरी की। इस अभूतपूर्व सफलता के उपलक्ष में अस्पताल ने कांस्टीट्यूशन क्लब ऑफ़ इंडिया में एक समाहरोह का आयोजन किया, और उत्तरी भारत में बदलते कैंसर के ट्रेंड और अपने सफ़र को साझा किया, जहां डॉक्टर एस खन्ना, फाउंडर- धर्मशिला हॉस्पिटल एंड प्रेसिडेंट- धर्मशिला कैंसर फाउंडेशन एंड रिसर्च सेंटर, कमांडर नवनीत बाली, रीजनल डायरेक्टर, नार्थ इंडिया, नारायणा हेल्थ और अनुज गुप्ता, सीओओ, धर्मशिला नारायणा सुपरस्पेशेलिटी अस्पताल अपने विचार साझा करने को मौजूद थे। साथ ही 20 वर्ष से अधिक समय पहले धर्मशिला अस्पताल के इलाज से कैंसर मुक्त हो चुके सरवाईवर्स भी अपना सफ़र साझा करने को मौजूद थे।
धर्मशिला अस्पताल ने नार्थ रीजन के पहले कॉम्प्रीहेंसिव कैंसर केयर सेंटर की शुरुवात की थी जिसमे अर्ली कैंसर डिटेक्शन, कम्पलीट स्टेजिंग वर्क अप, रेडियोथेरेपी, कीमोथेरपी, कैंसर सर्जरी, सपोर्टिव केयर आदि जैसी सुविधाएं मौजूद हैं, यह उस समय की बात है जब उत्तरी भारत में किसी भी अन्य अस्पताल में ऐसी कोई सुविधा उपलब्ध नहीं थी। इन 25 वर्षों के दौरान, धर्मशिला नारायणा अस्पताल ने कैंसर के ट्रेंड में उतार चढ़ाव देखे। जहां सर्विकल कैंसर के मामलों में तकरीबन 39 फ़ीसदी गिरावट रही वहीँ ब्रैस्ट कैंसर में 44 फ़ीसदी के हिसाब से और हेड, नैक एंड लंग कैंसर में 22 फ़ीसदी के हिसाब से इजाफा हुआ।

सर्विकल कैंसर के मामलों में आई गिरावट के लिए वैक्सीनेशन की बढ़ती प्रवृति, रेगुलर स्क्रीनिंग को श्रेय दिया जा सकता है, वहीँ तम्बाकू व अन्य नशीले पदार्थों का सेवन, शारीरिक श्रम न करने की आदत, अस्वस्थ जीवनशैली, खान पान की अनियमित आदतें कैंसर के बढ़ते आंकड़े के लिए जिम्मेदार मानी जा सकतीं हैं।
डॉक्टर एस खन्ना, फाउंडर- धर्मशिला हॉस्पिटल एंड प्रेसिडेंट- धर्मशिला कैंसर फाउंडेशन एंड रिसर्च सेंटर ने अपने वक्तव्य में कहा कि, कैंसर के इन बढ़ते मामलों को रोकने के लिए हमें प्रेस, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया समेत बड़े पैमाने पर जागरूकता फ़ैलाने की ज़रूरत है जो खास तौर पर जीवनशैली से सम्बंधित कैंसर पर केन्द्रित हो। हमें जनता को कैंसर स्क्रीनिंग के महत्त्व के बारे में भी जागरुक करना होगा। पिछले 25 वर्षों के दौरान धर्मशिला ने तकरीबन 80000 मुफ्त कैंसर स्क्रीनिंग की हैं। 454 मरीजों को शुरुवाती चरण में ही डिटेक्ट करके उनकी जिंदगी बचाई है। सरकार द्वारा एचपीवी और हेपेटाईटिस वैक्सीन की उपलब्धता बढ़ाने की भी जरूरत है साथ ही अधिक से अधिक केन्द्रों में मुफ्त कैंसर स्क्रीनिंग को भी बढ़ावा देने की ज़रूरत है। भारत के हरेक जिले में कॉम्प्रीहेन्सिव कैंसर सेंटर ज़रूर होना चाहिए।
कमांडर नवनीत बाली, रीजनल डायरेक्टर, नार्थ इंडिया, नारायणा हेल्थ ने कहा कि, कैंसर के इलाज की इतनी संख्या में सफल कहानियां सबके साथ साझा करना हमारी टीम के लिए निश्चित ही गर्व की बात है। अपने मरीजों को सर्वश्रेष्ठ इलाज देने के अलावा धर्मशिला नारायणा अस्पताल अपने सामाजिक दायित्व को भी समझता है। एक संसथान होने के नाते हम मुफ्त हेल्थ चेक अप कैम्प और जागरुकता कार्यक्रमों का समय समय पर आयोजन करवाते रहते हैं। हमारे पास अनुभवी डॉक्टरों की टीम है जो लगातार अपने मरीजों को अत्याधुनिक तकनीक के ज़रिये इलाज करती है।
धर्मशिला नारायणा अस्पताल नार्थ रीजन में पहला ऐसा कैंसर अस्पताल है जो सबसे चुनौतिपूर्ण हेड एंड नैक कैंसर सर्जरीज़ करता है। साथ ही यह दिल्ली का पहला ऐसा अस्पताल है जहां थर्ड जनरेशन टेक्नोलॉजी विद एलेक्टा सिनर्जी वीएमएटी विद आईएमआरटी, आईजीआरटी, एसबीआरटी और एसआरएस/एसआरटी एंड रेस्पिरेट्री गेटिंग केपेबिलिटीज़ और बेस्ट ट्रीटमेंट प्लानिंग सिस्टम जैसे मोनेको, CMSxi0, ERGO++ and Plato आदि उपलब्ध हैं।

— Achal Jain

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *