November 19, 2019
Corporate

हिंदुस्तान कोका-कोला बेवरेजेज ने गुंटूर जिले में अपने अत्‍माकुरू कारखाने में जल प्रबंधन अभ्‍यासों के लिए जीता नेशनल वाटर मिशन अवार्ड

यह 2019 के लिए पुरस्कार जीतने वाली चार कंपनियों में से एक कंपनी है

नई दिल्ली, 27 सितंबर, 2019: भारत की शीर्ष एफएमसीजी कंपनियों में से एक हिंदुस्तान कोका-कोला बेवरेजेज (एचसीसीबी) प्राइवेट लिमिटेड ने गुंटूर जिले के अत्‍माकुरु स्थित अपने कारखाने में मजबूत जल प्रबंधन अभ्‍यासों के लिए प्रतिष्ठित नेशनल वाटर मिशन अवार्ड 2019 जीता। एचसीसीबी ने यह पुरस्कार ‘जल उपयोग करने की क्षमता में 20 प्रतिशत की वृद्धि (उद्योग / कॉर्पोरेट)’ श्रेणी के तहत हासिल किया। यह पुरस्कार बीती शाम को नई दिल्ली स्थित विज्ञान भवन में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान प्रदान किया गया। एचसीसीबी उन चार कॉरपोरेट्स में से एक है जिन्होंने इस साल 2019 के लिए यह पुरस्कार जीता।

नई दिल्ली में विज्ञान भवन में आयोजित एक समारोह में श्री गजेंद्र सिंह शेखावत, माननीय जल शक्ति मंत्री ने  माननीय जल शक्ति, सामाजिक न्याय और सशक्तिकरण राज्य मंत्री श्री रतन लाल कटारिया की उपस्थिति में जी एस रघु, वीपी, गुणवत्ता, सुरक्षा और पर्यावरण, एचसीसीबी तथा पी वी आर कुमार, वीपी और क्लस्टर हेड साउथ, सप्लाई चेन, एचसीसीबी को यह पुरस्कार प्रदान किया।

ऑन-साइट आकलन के दौरान, पुरस्‍कार के लिए बनाई गई ज्‍यूरी एवं पैनल के सदस्‍यों ने फैक्‍टरी के परिचालन में इन क्षेत्रों में एचसीसीबी के कार्य का मूल्‍यांकन किया-  (1) पानी पुनःपूर्ति (फिर से भरना) (2) पानी का कुशल उपयोग और (3) पानी के उपयोग में लगातार कमी आदि के क्षेत्रों में कार्यों का मूल्यांकन किया। फैक्‍ट्री ने पिछले 36 महीनों में जल के उपयोग में 22 प्रतिशत ऑप्टिमाइजेशन हासिल किया है।

जीरो लिक्विड डिस्चार्ज, बैक वॉश रिकवरी सिस्टम, बॉटल वॉशर रिकवरी स्कीम्‍स सुनिश्चित करने हेतु जल उपचार संयंत्र की स्‍थापना के माध्‍यम से अपनी जल प्रबंधन प्रणालियों को आरंभ करने के लिए एचसीसीबी के जारी प्रयासों और पीईटी वाटर रिंसेस एवं सीआइपी (क्‍लीन-इन-प्‍लेस) में ऑप्टिमाइजेशन के जरिये जल के इस्‍तेमाल में कमी लाने की बदौलत यह पुरस्‍कार प्राप्‍त हुआ।

इसके अलावा निदुमक्कल और कन्थेरु गाँव में वर्षा जल भंडारण और कटाई परियोजनाओं के माध्यम से जल संरक्षण के क्षेत्र में एचसीसीबी के काम; और क्षेत्रीय कृषि अनुसंधान स्टेशन गुंटूर में रूफ वाटर हार्वेस्टिंग परियोजना अन्य परियोजनाएं थीं जिन्हें भी सम्‍मानित किया गया। इन और अन्य जल परियोजनाओं के साथ –साथ, एचसीसीबी ने अत्‍माकुरू में और उसके आसपास 5 लाख किलोलीटर वर्षा जल संचयन करने की क्षमता का निर्माण किया है।

इस पुरस्कार के महत्‍व के बारे में बताते हुए श्री दिनेश जाधव, कार्यकारी निदेशक, आपूर्ति श्रृंखला, हिंदुस्तान कोका-कोला बेवरेजेज ने कहा, “हमने जल प्रबंधन पर लगातार खुद को लक्ष्य और चुनौतियां दी हैं, जोकि मौजूदा नियमों की तुलना में अक्‍सर कठिन होती हैं।  अत्‍माकुरू फैक्‍ट्री को मिले नेशनल मिशन अवार्ड ने हमेशा बेहतर रहने की हमारी महत्‍कवाकांक्षा को और सुदृढ़ ही किया है।”

इस पुरस्कार के लिए पूरे देश से आई 140 प्रविष्टियों में से विजेताओं को चुना गया था। इन पुरस्कारों को राष्ट्रीय जल मिशन के पांच लक्ष्यों को कवर करने वाली सुपरिभाषित रूपरेखा के आधार पर 10 श्रेणियों में विभाजित किया गया था। इस पुरस्कार के लिए जल संसाधन मंत्रालय के पूर्व सचिव श्री शशि शेखर की अध्यक्षता में प्रख्यात पैनलिस्टों के निर्णायक मंडल द्वारा साइट पर की गई मूल्यांकन की सख्‍त प्रक्रिया शामिल थी।

अत्‍माकुरू में एचसीसीबी की फैक्‍ट्री की स्‍थापना 1999 में की गई थी और यहां 4 विनिर्माण लाइंस हैं जोकि 42 एकड़ से अधिक के क्षेत्र में फैली हुई हैं।

About HCCB

HCCB is one of India’s largest FMCG companies. It manufactures, packages and sells, some of India’s most loved beverages – Minute Maid, Maaza, SmartWater, Kinley, Thums Up, Sprite, Coca-Cola, Limca, Fanta, Georgia and several others. A network of 3,900 distributors, 250,000 farmers, 7,000 suppliers and over 2.5 million retail outlets, makes HCCB, an ecosystem of significant scale. It operates in 25 states in 493 districts. Through its 18 factories, HCCB manufactures and sells 60 different products in 9 different categories.

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *