November 17, 2019
Daily Events

दिल्ली में पूर्वांचलियों को अपमानित करने का काम कर रही है केजरीवाल की सरकार- मनोज तिवारी

भरोसा चेरिटेबल ट्रस्ट के तत्वावधान में  “पूर्वांचल प्राइड- दिल्ली की समस्या और समाधान” पर चर्चा

नई दिल्ली। भरोसा चेरिटेबल ट्रस्ट के तत्वावधान में “पूर्वांचल प्राइड- दिल्ली की समस्या और समाधान” नामक कार्यक्रम का आयोजन आज दिल्ली स्थित कांस्टिट्यूशन क्लब में किया गया। कार्यक्रम की शुरुआत पारंपरिक तरीके से दीप जलाकर किया गया। इस कार्यक्रम का मकसद दिल्ली में पूर्वांचलियों के समस्याओं औऱ समाधान है। इस मौके पर मुख्य अतिथि के रूप में केंद्र सरकार में कानून, सूचना और प्रसारण, और आईटी मंत्री रविशंकर प्रसाद तथा भारतीय जनता पार्टी के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी भी मौजूद रहे।

इस मौके पर मनोज तिवारी ने कहा कि पिछले कई वर्षों से दिल्ली में पूर्वांचलियों के विकास और उनकी समस्याओं के समाधान के लिए कोई समेकित व्यवस्था नहीं की गई। चाहे वह पहले रह चुकी कांग्रेस की सरकार हो या फिर वर्तमान की केजरीवाल सरकार। साथ ही उन्होंने कहा कि आज की दिल्ली सरकार ने जो पूर्वांचलियों को अपमानित करने का कोशिश किया है वो हम कभी बर्दाश्त नहीं करेंगे। इसके साथ ही केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने भी अपने विचार रखे। उन्होंने कहा कि केंद्र की हमारी सरकार पूर्वांचलियों के लिए हमेशा काम करती रही है चाहे वह वाजपेयीजी की सरकार में मैथिली को अष्टम सूचि में लाने की बात हो या फिर अब भोजपुरी को। 

वहीं इस मौके पर भरोसा चेरिटेबल ट्रस्ट के मुख्य संरक्षक शरत झा ने बताया कि इस तरह के कार्यक्रमों से हम पूर्वांचली और भी मजबूत होंगे। साथ ही उन्होंने कहा कि दिल्ली में आम आदमी पार्टी ने दिल्ली को बदहाल कर दिया है। उन्होंने कहा कि मैं संगम विहार में कई सालों से रहता हूं और मैं यह दावे के साथ कह सकता हूं कि दिल्ली का ऐसा हाल कभी नहीं था यह तो बिहार में लालू के राज (जंगल राज) से बदतर स्थिति है। इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि दिल्ली में जहां कहीं भी पूर्वांचली डोमिनेटेड एरिया है वहां-वहां बिल्कुल ही दिल्ली सरकार ने कभी भी ध्यान नहीं देता है।

इस मौके पर पूर्वांचल के कई गणमान्य/प्रबुद्ध लोगों ने अपने अपने विचार व्यक्त किए। इसमें सेफालिका वर्मा, आलोक राय, आनंद झा, कैलाश मिश्रा, अजित दुबे, बीडी सृवास्तव समेत कई गणमान्य लोग मौजूद रहे।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *