April 3, 2020
Health

योग (Yoga) के द्वारा इम्यूनिटी बूस्ट करें

आजकल हर जगह वायरस का प्रकोप है। सारे विश्व में लोग (कोरोना वायरस) के द्वारा अपनी जान गवाँ रहे हैं। हमें इन बीमारियों से लडऩे में सबसे पहले अपने (इम्यून सिस्टम) को मजबूत करना होगा। इम्यून सिस्टम और रोग प्रतिरोधक क्षमता कोक्षिकाओं का नेटवर्क है। कुछ कीटाणु और वायरस हमारे शरीर की रक्षा करते हैं।

हमारा इम्यून सिस्टम किसी ऐंटी वायरस की तरह शरीर में कीटाणु को ढूँढ़ता है और लड़ता है। लेकिन कई बार हमारा इम्यून सिस्टम कमजोर पडऩे लगता है। जिसमें पीछे खराब खान-पान, खराब लाईफस्टाईल और तनाव प्रमुख कारण है।

योग (Yoga) का अभ्यास मुनष्य के खुद को शारीरिक और मानसिक विकास के लिऐ इसको उत्तम माना है। योग हमारे मन और शरीर दोनों को संतुलित कर हमारी इम्यूनिटी को मजबूत बनाता है। आईऐ जानें कि योग के कौन-कौन से अभ्यास हमारे शरीर और मन को प्रबल बनाते हैं।

त्रिकोणासन

त्रिकोणासन: अपने पैरों के बीच 2-3 फीट का अन्तर बना लें। धीरे-धीरे कमर के ऊपरी हिस्से को सामने दाहिनी तरफ झुकाऐं। दाहिने हाथ की हथेली से दाहिने पैर के पंजे को पकडें। दोनों घुटने तने हुऐ होंगे, बाऐं हाथ की भुजा बांऐ कान के ऊपर रखते हुऐ त्रिकोण की स्थिति निर्मित करेगा फिर इस क्रिया को बाई तरफ झुकाते हुऐ करें।

लाभ: मेरूदण्ड की लचीला बनाता है। उदर सम्बन्धी विकार दूर करता है। शरीर में रक्त संचार को भली भांति करता है। स्द्रो में निपटने में लाभ देता है।

सुप्त पवन मुम्तासन

सुप्त पवन मुम्तासन: पीठ के बल लेट जाऐं पैरों को सामने की तरफ जमीन के समानांतर सीधे रखें। श्वास छोडें और दाहिने घुटना मोडकर सिर की तरफ ले आऐं। अब घुटने को नाक से स्पर्श कराने की कोशिश करें कुछ देर रूकें। यही क्रिया बाएँ पैर से करें। दोनों ओर से कम से कम 3-3 बार करें।

लाभ: हाईब्लडप्रेशर, स्लिपडिस्क और साईटिका वाले योग गुरू के देखरेख में करें।

नाडी शोधन प्राणायाम

नाडी शोधन प्राणायाम: पदमासन या फिर सुखासन में बैठ जाऐं। मेस्दण्ड गर्दन व सिर एक सीध में रखें। बाऐं हाथ को (ज्ञान मुडा) उसके बाद दाँऐं हाथ से दाँऐं तरफ की नाक को बन्द कर। बाऐं नाक से लम्बा गहरा श्वास भरते हुऐ दाँऐ नाक से श्वास बाहर निकाल दें। फिर दाँऐं नाक से श्वास भर कर बाऐं नाक से निकाल दें। यह इसका 1 चक्र हुआ। कम से कम 20 चक्रों का अभ्यास करें।

लाभ: इस प्राणायाम से हमारा मानसिक कार्यक्षमता बढ़ जाती है। मन शान्त, प्रसनचिन्त रहता है। अस्थमा, कम सम्बन्धी रोग और हाई बल्डप्रेशर के नियन्त्रण में लाभ दायक है।

इनके अलावा योग (Yoga) के और आसन, मुडा और प्राणायाम हमारे इम्यून को मजबूत बनाते हैं। जैसे कि भुजंग आसन, उष्ट्रासन , चक्रासन, भ्रामरी प्राणायाम ,ऊँमन्त्र ध्यान और श्वास आदि।

योग (Yoga) गुरू सुनील सिंह

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *