June 7, 2020
Home Archive by category Bollywood (Page 2)

Bollywood

Bollywood
  • वाणी प्रकाशन के दास्ताँ कहते-कहते श्रृंखला में अमिता परशुराम पहली शायरा हैं।
  • इस श्रृंखला इससे पहले देश-विदेश के 50 अधिक दिग्गज शायरों के नज्म और गजल प्रकाशित हो चुके हैं।
  • वाणी डिजिटल कार्यक्रम के तहत भजन सम्राट अनूप जलोटा, गजल सम्राट गायक पंकज उदास तथा मशहूर गायक और संगीतकार हरिहरन द्वारा पुस्तक लोकार्पण हुआ ।

नई दिल्ली 27 मई 2020: कोरोना महामारी के कारण जिस तरह से देशभर में भारत सरकार और राज्य सरकारों द्वारा सतर्कता बरती जा रही है. इसी तत्कालीन परिस्थिति को ध्यान में रखते हुए, वाणी प्रकाशन समूह ने कवियित्री अमिता परशुराम की नई पुस्तक ‘इश्क़ लम्हें’, जो कि नज़्म तथा गज़लों का संग्रह है, का ऑनलाइन लोकार्पण अपने सभी सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर किया गया। इस ऑनलाइन आयोजन में, संगीत क्षेत्र से भजन सम्राट अनूप जलोटा, गजल सम्राट गायक पंकज उदास तथा मशहूर गायक और संगीतकार हरिहरन, जैसे दिग्गजों के अलावा वाणी प्रकाशन ग्रुप के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक अरुण माहेश्वरी भी इसमें उपस्थित थे।

अमिता परशुराम की ‘इश्क लम्हें’ नज्म तथा गजलों का संग्रह दास्ताँ कहते-कहते श्रृंखला में वाणी प्रकाशन की पहली किताब है,जिसमें पहलीबार किसी शायरा को प्रकाशित किया गया है। इससे पहले इस श्रृंखला में देश विदेश के 50 से आधिक शायर प्रकाशित हो चुके हैं। यह पहलीबार है जब किसी शायरा का संग्रह प्रकाशित हुआ है और आगे भी वाणी प्रकाशन दास्ताँ कहते-कहते श्रृंखला में कई अन्य शायराओं की नज्मों और गजलों को प्रकाशित करने जा रहा है ।

कवियत्री अमिता परशुराम इस मौके पर एक महत्वपूर्ण प्रश्न किया जो कि पाठकों के हित में था, कि उर्दू की शायरी तथा ग़ज़लों की लोकप्रियता जन जन में है, सभी तबके के लोग उसे सुनना एवं पढ़ना पसन्द करते है, परन्तु उसकी उपलब्धता हिंदी देवनागरी में ना होने के कारण, लोगों को समस्याओं का सामना करना पड़ा, इसके बारे में उन्होंने गीतकारों तथा प्रकाशक के रूप में अरुण माहेश्वरी से कुछ टिप्पणियाँ जाननी चाही।

गजल गायक पंकज उदास इस सम्बन्ध में बताते हैं कि यह मसला शुरू से ही रहा, परन्तु साथ ही उन्होंने महत्वपूर्ण जानकारी दी कि कैसे 1982-83 में इस समस्या पर काम किया गया, तथा पुस्तकों में उर्दू के साथ साथ हिंदी देवनागरी में भी ग़ज़लों का छपना शुरू हुआ।

ग़ज़लों तथा वाणी प्रकाशन का पुराना रिश्ता रहा है, इस यात्रा पर बात करते हुए अरुण माहेश्वरी बताते हैं कि कैसे कैफ़ी आज़मी, जॉन एलिया, निदा फ़ाज़ली और गुलज़ार जैसे प्रतिष्ठित शायरों की पुस्तकों को हिंदी देवनागरी में छाप कर वाणी प्रकाशन ने कितना महत्वपूर्ण योगदान दिया है।

ग़ज़लों के साथ साथ मौसिकी की एहमियत पर भी बात की गई, ग़ज़ल गाने वालों को अनूप जलोटा, खूबसूरत रथ का घोड़ा बताते हैं। चर्चा के दौरान महसूस किया गया कि गायिकी में नित नए परिवर्तनों के साथ शायर के अल्फाज़ो को महफूज़ रखना कितना आवश्यक है। वहीं हरिहरन ने अपने नए शैली के गीतों के माध्यम से कुछ ग़ज़लें गायीं और समा बाँध दिया। वहीं आजकल की फिल्मों में लुप्त होती ग़ज़लों की गायिकी की कमी पर भी चर्चा की गई। अंत में सभी ने अमिता परशूराम को उनकी पुस्तक के लिए बधाई दी।

Bollywood

Movie fanatics have been eagerly waiting to know what’s going to be the future of Marathi cinema post Covid-19. Many had discussed about the possibilities of OTT releases and giving theatre a miss.

Commenting on same Paragg Mehta, the film Producer and Bollywood’s renowned Casting Director said, “As we all know how Bollywood big films have taken route of OTT platforms. The general pulse in the market is that Regional films may have to depend on OTT platforms for the time being as we have to survive somehow and even have to cater good content to our audience. This was an option before us and as an emergence of digital evolution someone had to take initiative and I have taken it,” he says, adding to that we are in talks with few of them and so far have got positive response for the release and announcement will be done soon.”

“Parinati”, starring Amruta Subhash, Sonalee Kulkarni,
and Akshar Kothari is directed by debutant director Akshay Balsaraf will be the first Marathi film to release on an OTT platform.

Bollywood

A lockdown love song called Tere Hone Se featuring Malang movie fame Angela Krislinzki and sung by Madhav Mahajan releases

Its a beautiful song and the uniqueness of the song is that it’s been shot when both are in separate places. Madhav is locked down in Gurdaspur and Angela is in Mumbai yet they shot it in their respective places. It’s a surprise that we can see Angela Krislinzki debuting as a lyricist.

We spoke to Madhav and here is what he has to say, “I am here in Gurdaspur with my parents. My parents are doctors and we have a hospital so we could shoot. We shot with actual health professionals here. Though despite being together, i hardly get the chance to see my parents because they are busy fighting the coronavirus pandemic for the nation. This song has got angela and me really close and we now understand each other even better staying so far.

The lyrics are written by Angela and for the first time she has penned down the lyrics. Its a new feather in her cap. The song is a tribute to the health workers and other officials who are working really hard to make our lives better during the coronavirus pandemic.” We also called up Angela and here is what she shares, ” It’s an emotional song for me. We are in two far away places and we have not been able to meet for a long time now. This has made us realise a lot of things. We generally complain about so many things but we struggle for basics when nature takes its course. We are closer than ever now.

There is a cute twist in the song where you can see us getting married online. I am glad that it’s releasing and there is something for the audience to get entertained. I have written the lyrics for the first time and I hope the audience likes it. “

We have heard a little bit of the song and we promise that it’s a beautiful song. We are awaiting the release of the song and we salute all the health warriors and the people who are working round the clock to secure us and makes our lives easier. We are really looking forward to the song.

Bollywood

एकता कपूर के ऑल्ट बालाजी ने ‘कहने को हमसफ़र है’ के तीसरे सीजन के साथ वापसी कर ली है। पहले दो सीज़न में शादी, रिश्ते, अनुकूलता और प्यार को दर्शाने के लिए दर्शकों द्वारा बेहद सरहाया गया था। जिसके बाद से दर्शकों को बेसब्री से तीसरे सीज़न का इंतज़ार है, जो 6 जून दोपहर 12 बजे से ऑल्ट बालाजी और ज़ी5 पर स्ट्रीमिंग के लिए उपलब्ध होगा!

लेकिन उससे पहले, दर्शकों को एक अनोखा यूट्यूब प्रीमियर ‘ओ मेरे हमसफ़र’ देखने मिलेगा जो कि ऑल्ट बालाजी और ज़ी5 की सीरीज़ ‘कहने को हमसफ़र है’ की स्टार कास्ट के साथ एक डिजिटल म्यूजिक कॉन्सर्ट है। यूट्यूब प्रीमियर की मेजबानी गायक, टेलीविजन एंकर और पूर्व ऑल इंडिया रेडियो एफएम रेनबो रेडियो जॉकी, मिहिर जोशी द्वारा की जाएगी। ‘ओ मेरे हमसफ़र’ का प्रीमियर 26 मई को शाम 5 बजे ऑल्ट बालाजी के यूट्यूब पेज पर होगा।

इस अनोखे यूट्यूब प्रीमियर का आगाज़ पहले दो सीज़न के सफ़र के साथ शुरू होगा, जो दर्शकों के जहन में ‘कहने को हमसफ़र हैं’ की बीती यादें ताज़ा कर देगा।

दर्शकों के लिए इंडियन आइडल फेम और बहुमुखी प्रतिभा गायक अभिजीत सावंत, बहुमुखी प्रतिभा सिंह बघेल और छोटे उस्ताद संगीत रियलिटी शो की विजेता ऐश्वर्या मजमुदार द्वारा प्रस्तुत किए गए शो के मंत्रमुग्ध कर देने वाला जादुई म्यूजिकल परफॉर्मेंस प्रस्तुत किया जाएगा। सभी कलाकार सोशल मीडिया और यूट्यूब पर बेहद लोकप्रिय हैं और कहने की ज़रूरत नहीं है कि उनके उत्साही प्रशंसक निश्चित रूप से ‘कहने को हमसफ़र हैं’ के लोकप्रिय गानों की उनकी प्रस्तुति के साथ आश्चर्यचकित होने के लिये तैयार है। 

इस यूट्यूब प्रीमियर में शो के कलाकार रोनित रॉय, गुरदीप पुंज, मोना सिंह, अपूर्वा अग्निहोत्री, पलक जैन और पूजा बनर्जी के साथ रोचक बातचीत देखने मिलेगी। लॉकडाउन के बीच, शो के कलाकारों ने अपने घरों की सुरक्षा से वीडियो रिकॉर्ड करने का प्रयास किया है और दर्शकों के लिए यह विशेष प्रीमियर ले कर आये जो ‘कहने को हमसफ़र है’ के प्रति उनके सामान्य प्रेम और विश्वास को दर्शाता है।

एकता कपूर ने साझा किया, “ओ मेरे हमसफ़र दर्शकों के लिए एक अनोखा प्रीमियर है। यह कहने को हमसफ़र हैं के एक संगीतमय सफ़र का प्रदर्शन करेंगे, जिसमें शो के कलाकारों की भूमिका होगी और अभिजीत सावंत, ऐश्वर्या मजुमदार और प्रतिभा सिंह जैसे प्रसिद्ध प्लेबैक गायकों द्वारा शो के लोकप्रिय गानों का सुंदर प्रदर्शन किया जाएगा। यह संगीतमय सफ़र निश्चित रूप से दर्शकों के लिए घर से एक दिलचस्प अनुभव होगा, जो उन्हें लॉकडाउन की बोरियत को दूर करने में मदद करेगा और इसके तीसरे सीज़न के लॉन्च से पहले शो की सुंदरता को फिर से देख पाएंगे! “

यह म्यूजिकल कॉन्सर्ट का यूट्यूब प्रीमियर ऑल्ट बालाजी की अनोखी पहल है जिसे निश्चित रूप से सभी दर्शकों द्वारा बेहद पसंद किया जाएगा। इसलिए, 26 मई को शाम 5 बजे ऑल्ट बालाजी के यूट्यूब पेज पर म्यूज़िक कॉन्सर्ट के प्रीमियर के लिए तैयार हो जाइए।

Bollywood

हाल ही में आई वेब सीरीज पाताल लोक काफी चर्चा में है। यह एक क्राइम थ्रिलर है। लॉकडाउन टाइम में पाताल लोक को दर्शकों से खूब तारीफ मिल रही है। वैसे तो इस सीरीज में नजर आए सभी किरदारों का दमदार अंदाज है लेकिन पाताल लोक वेब में एक ऐसा किरदार है जिसको ज्यादा तारीफें मिल रही है, वो है हाथीराम चौधरी का, जिसे निभाया है एक्टर जयदीप अहलावत ने। जयदीप अहलावत से अभिनय और इस वेब सीरीज के विषय में Thespeaktoday.com की संपादक अनिका अरोड़ा ने की विस्तार से बातचीत।

अनिका- जयदीप, सबसे पहले तो आपको आपकी सीरीज Paatal Lok की सक्सेस और दमदार एक्टिंग से मिलने वाली सराहना के लिए congratulations.

सवाल- वर्ष 2008 के सफर से लेकर वर्ष 2020 में जो आकर लीड रोल से सक्सेस मिली है, उसे क्या कहेंगे?
जवाब- बॉलीवुड ने मुझे पिछले 10 वर्षों में खूब सिखाया है। यह एक्सपीरियंस बेहद खास है। आज मेरी मेहनत को लोगों ने उम्मीद से ज्यादा सराहा है तो अच्छा लग रहा है। वैसे मेरे कॅरियर के लिए मेरी दो फिल्म्स राजी और गैंग्स ऑफ वासेपुर बेहद अहम रही है, जिसे मैं टर्निंग प्वांइट्स कह सकता हूं।

सवाल- पाताल लोक के हाथी राम चौधरी किरदार को जीवंत बनाने के लिए आपने काफी मेहनत की है, साथ ही यह एक्सपीरियंस कैसा रहा? और इसे सिलेक्ट करने की खास वजह?
जवाब- हाथीराम का किरदार जिसे सुदीप शर्मा जी ने लिखा है, वो काफी अहम है। और मुझे जब ऑफर हुआ तो मेरे लिए इंटरेस्टिंग था क्योंकि बहुत ही कमाल का लिखा हुआ किरदार है और उतनी ही कमाल की लिखी हुई कहानी है।

Picture courtesy – Pravin Talan

उसको पढ़ते ही लगा कि हां इसे मैं बिल्कुल मना नहीं कर पाउंगा। वेट बढ़ाया गया, लैंग्वेज को लेकर बातें की गईं, किरदार के जिस तरह के जितने-जितने रिलेशनशिप हैं, उसकी बातें की, उसके ऊपर डिस्कशन हुए और फिर लोगों को जिस तरह से वो जिन-जिन परिस्थितियों में जैसा-जैसा बिहेव करता है, वो बहुत अच्छे से लिखा हुआ था तो एक प्रक्रिया के तहत, एक तरह से मानके चलिए कि आप धीरे-धीरे उन चीजों के, उस किरदार के छोटे- छोटे जो एक तरह से धागे जिसको हम कह सकते हैं वो पिरोने शुरू हुए।

हाथी राम चौधरी आम इंसान सिर्फ एक पुलिस इंस्पेक्टर नहीं है, एक पति है, पिता है, तो दोस्त है तो वो सब भी है। धीरे-धीरे उन सब चीजों की तैयारी शूरू हुई। उसकी स्क्रिप्ट को बहुत बार पढ़ा गया क्योंकि आम तौर पर जब अच्छी कहानी लिखी जाती है तो किरदार के जो उसकी एक तरह से कैरेक्टरस्टिक्स होते हैं, उस पर भी काम करना बेहद जरूरी होता है।

साथ ही किसी प्रोजेक्ट से जुडऩे से पहले सबसे अहम होता है आप उस कहानी से जुड़े। तो मेरे लिए इसकी राइटिंग सबसे खास रही। क्योंकि उन्होंने हाथीराम को कई इमोशन्स में दिखाया है। बाहर से थका-हारा इंसान है लेकिन अंदरूनी एक ललक है जिंदगी में कुछ प्रूव करने की। और हाथीराम नाम से आप जान सकते हैं कि जब तक वो शांत है तो शांत ही रहेगा, लेकिन जब वो पागल होता है तो कुछ भी कर गुजरता, तबाही होती है। ठीक यही मेरे किरदार में दिखाने का प्रयास हुआ है। इस किरदार को जीवंत करने में मेरी एक्टिंग (हंसते हुए,,,,जैसा लोग कह रहे हैं) के साथ-साथ इस कहानी का भी योगदान है। कुल मिलाकर यह एक्सपीरियंस काफी मजेदार रहा।

सवाल- कई किरदारों के साथ काम करते समय अपने रोल को दमदार पॉजीशन पर लाना काफी चैलेंजिंग होता है, तो आपने इस चैलेंज को कैसे फेस किया?
जवाब- हां यह सही है कि कई किरदारों के साथ खुद को पेश करना थोड़ा चैलेंजिंग होता है, इसके लिए सबसे ज्यादा जरूरी होता है कि आप कहानी के साथ कितने जुड़े है क्योंकि फिल्म की लंबाई व वेब की लंबाई में यही फर्क होता है। वेब में हर मूमेंट में सीन व जगह चेंज होते रहते है। साथ ही स्टोरी कई बार फ्लेशबैक में जाकर भी शूट होती है। तो उस पकड़ को बनाए रखना बेहद जरूरी होता है अपने किरदार के साथ।

सवाल- बॉलीवुड में आपका कोई गॉडफादर नहीं है, तो इसके लिए आपको ज्यादा स्ट्रगल करना पड़ा?
जवाब- फिल्म इंडस्ट्री में मेरा कोई गॉडफादर नहीं है तो शायद मुझे ज्यादा स्ट्रगल करना पड़ा। हां, लगता है कि कोई गॉडफादर होता तो सही गाइडेंस आसानी से मिलती। वैसे मैं अपने इस स्ट्रगल को एक खूबसूरत जर्नी कहूंगा।

सवाल- शुरूआती दौर में आपने थियेटर का रूख भी किया। इस बारे में बताइए?
जवाब- मैंने 20-22 वर्ष की उम्र में थियेटर का रूख किया। असल में आर्मी ऑफिसर बनना चाहता था, जब वह सब हासिल नहीं हो पाया तब अपने गुस्से को निकालने का एक आउटलेट मिल गया। पहला नाटक मेरा पोस्टर था। जब नया-नया सीख रहे थे तो एक्साइटेड लगता था, लेकिन आगे चलकर कभी कॅरियर बनाने की नहीं सोची थी।

सवाल- आपने हिंदी व तमिल भाषा की फिल्मों के अलावा अन्य किन भाषाओं में काम किया?
जवाब- हंसते हुए,,,,,,,,, यह हाथीराम चौधरी, हरियाणी भाषा में किया ना।

सवाल- फिल्म्स को सिलेक्ट करते वक्त आप किन चीजों को ज्यादा अहमियत देते हैं?
जवाब- मेरे लिए किरदार बेहद इम्पॉरटेंट होता है, उसके बाद कहानी। फिर कास्ट, जिनके साथ आप करने वाले है, डायरेक्टर आदि पर, पहले च्वॉइस नहीं करता था, लेकिन अब करने लगा हूं,,,,,, हंसते हुए।

कुछ दिल से—

Favorite Food- Bajre ki Roti, Raita, Chutney aur Lassi

Favorite Place to Visit- In India… kashmir and Rajasthan
In International… Egypt and Brazil

Alltime Favorite Clothes- Designer Kurta payjama and jutti
Passion- Long Drives

Alltime Favorite Music- Sufi Music
Any Dream Role- Al pacino in The Godfather

सवाल- आने वाले अपने प्रोजेक्ट्स के बारे में बताइए?
जवाब- हां, अभी कुछ प्रोजेक्ट्स आ रहे हैं, जिनमें से एक Netflix के लिए शार्ट फिल्म है, जो कि शशांक खेतान ने डायरेक्ट किया है, Dharma Production ने उसे प्रोड्यूस किया है और मैं और फातिमा सना शेख हैं उसमें। इसके अलावा एक फिल्म है ‘खाली-पीलीÓ ईशान खट्टर और अन्नया पांडे और मैं हूं, जिसमें मेरा नेगेटिव रोल होगा। तो ये कुछ काम है जो ऑलरेडी तैयार है, बाकी आगे का लॉकडाउन के बाद देखेंगे।

सवाल- Jaideep, खुद को कुछ शब्दों में कैसे बयां करेंगे?
जवाब- हंसते हुए,,,,,,, हार्ड लुक है लेकिन इनोसेंट हूं। आलसी नहीं हूं, नई चीजों को करने के लिए हमेशा तैयार रहता हूं। लाइफ में चैलेंज लेना बहुत पसंद है। 

Thespeaktoday.com से बात करने और हमारे सवालों का जवाब देने के लिए Thank You and All d best.
Bollywood

Ghoomketu is set to premiere on ZEE5 on May 22. The film, directed Pushpendra Nath Mishra and produced by Phantom Films and Sony Pictures Networks (SPN), also features filmmaker Anurag Kashyap and actors Ila Arun, Raghubir Yadav, Swanand Kirkire and Ragini Khanna.

Ghoomketu is a comedy-drama based on an inexperienced writer, played by Nawazuddin Siddiqui, struggling to make it big in the film industry in Mumbai. Anurag Kashyap plays a cop here. Ghoomketu has been directed by Pushpendra Nath Misra and produced by Phantom Films and Sony Pictures Networks (SPN).

Anurag Kashyap will be seen playing a cop in the film. When asked about his role, Anurag shares, “I didn’t need to do any prep. I was in between shoots and I am a reluctant actor so playing lazy came easily. And I was also at the most unfit at that time and that went with the character. Also, somehow I have only played a cop in my last three outings as an actor, including Ghoomketu now. If not an evil cop then a corrupt or a lazy cop but never a good cop.”

This quirky comedy is all set to confuse, entertain and make you laugh, this Eid weekend. The film will stream on the platform 22 May onwards

Bollywood

कोविड-19 से लड़ने की इस घड़ी में, सलमान खान ने हमेशा मदद का हाथ आगे बढ़ाया है। महामारी के बीच, सलमान ने लोगों को घर पर रहने, सामाजिक दूरी का अभ्यास करने और योगदान देने की सलाह देने जैसी जागरूकता फैलाने के लिए विभिन्न प्लेटफार्म का उपयोग किया हैं।

salman

हर गुजरते दिन के साथ स्थिति अधिक भयावह दिखने के साथ, सलमान हर तरह से मदद की पेशकश कर रहे हैं। ऑल इंडिया स्पेशल आर्टिस्ट्स एसोसिएशन (AISAA) से जुड़े 90 लंबित दिहाड़ी मजदूरों की मदद करने से ले कर 32,000 दैनिक वेतन भोगी श्रमिकों को वित्तीय सहायता प्रदान करने तक, सलमान लगातार इस स्थिति पर अपनी नज़र बनाये हुए है और हर बार सामने आने वाली नई जरूरतों को पूरा करने में मदद कर रहे है। हाल ही में, हमने यह भी देखा कि सुपरस्टार ने अपने फार्महाउस के आसपास के गांवों के लिए भोजन और अन्य संसाधनों की व्यवस्था करते हुए, लगभग 2500 परिवारों की जरूरतों को पूरा किया है।

सोने का दिल रखने वाले सलमान, जरूरत के समय में हमेशा अपने देश के लोगों की मदद के लिए आगे आये है। सलमान के करीबी लोग उनके परोपकारी पक्ष से अच्छी तरह से वाकिफ हैं। और रमजान के शुभ महीने के दौरान, सलमान अधिक मात्रा में धर्मार्थ प्रयास का अभ्यास कर रहे हैं क्योंकि यह दानपुण्य करने का महीना है।

पूरी दुनिया द्वारा वायरस की चपेट में आने के साथ, इस साल सलमान ने सभी धर्मार्थ प्रयास कोविड-19 राहत और लोगों के कल्याण में लगा दिए हैं, कुछ ऐसा है जिसकी राष्ट्र को अभी जरूरत है। सलमान खान सबसे उदार हस्तियों में से एक हैं जिनकी परोपकारिता ने लोगों के जीवन को बदल दिया है।

Bollywood

A deep rivalry, the dark power of ruling a criminal empire and an epic battle for glory – Meet Vijay Singh and Waseem Khan of Raktanchal

MX Player introduces viewers to two awe inspiring and menacing gangsters who promise to redefine heartland crime dramas as we know it

You’ve seen many a quintessential hero, and then there are the stereotypical villains. However, MX Player is now bringing viewers two iconic characters, Vijay Singh and Waseem Khan from Purvanchal, who are the law makers as well as the law breakers. Power hungry, driven by vengeance and led by a brute strength that wouldn’t let anything come in their way – the duo promises to be the greatest villains that the web has seen lately. MX Original Series Raktanchal redefines the menacing ways of heartland lawlessness and the mafia-raj culture that make the region of Purvanchal bleed into Raktanchal – one gunshot at a time.

Vijay Singh (played by Kranti Prakash Jha) and Waseem Khan (essayed by Nikiten Dheer)will show you the dark side of power, the underbelly of our polite society, and the codes that are practiced, and broken, brutally or not so brutally.

A caring and studious young man turned reluctant gangster – Vijay Singh has many faces. With an aim to dominate and win every tender in the city, Vijay created a mark all by himself and became the most feared man in the city. He was terror in disguise. Violence, law makers or politics – nothing could stop him from getting what he wants. His mantra – more risk, more pain and more pain means more gain is sure to leave you with goose bumps.

After his impactful role in MS Dhoni – the untold story, Kranti Prakash Jha plays Vijay Singh to perfection. Adding light to the character, he says, “Vijay Singh does not follow the usual gangster graph, he did not enter that world out of fascination or because he had a thirst for power. His is a story of struggles to shatter the criminal empire of his adversary. Gang wars have always fascinated me and getting a chance to play a character that is so layered, so real and dangerous really intrigued me”.

His arch enemy, the ruthless Waseem Khanis equipped not only with money but also with power of politics as well. Shrewd, arrogant and ruling the tender mafic with an ironclad fist – Waseem Khan will do anything to retain his control and protect what is his. And, when a war is declared – he stops at nothing.

Acclaimed for his performances in Chennai Express, Jodha Akbar and Mission Istanbul – Nikiten Dheer plays Waseem Khan in this series and he added saying, “Brutal, violent and hungry for power – these are the words I would use to describe my character. What’s interesting in his story is how he reacts when his authority is threatened and what extent he will go to, to prove his worth. This series brings forth a never seen before world of the kedari and I hope my fans appreciate me in this dark role as well”.
The face of the underworld changed when the two came eye to eye. Watch the promos now to know more.

Bollywood

Created by executive producers Eli Horowitz and Micah Bloomberg, who crafted the Gimlet Media podcast on which the show is based, the psychological thriller Homecoming Season 2 is set to launch on 22nd May, 2020 on Amazon Prime Video in India and around the world in more than 200 countries and territories.

Amazon Prime Video is all set to launch the season 2 of the critically-acclaimed international Amazon Original Series Homecoming . With no memory of her identity, Jackie faces with questions about her past. In search of retrieving her memory, she crosses paths with the Geist Group, the wellness company behind the Homecoming initiative, which leads her to situations beyond her control.

The international Amazon Original Series, Homecoming Season 2, will launch on 22nd May, 2020 on Amazon Prime Video in India and worldwide in more than 200 countries and territories.

The popular series Homecoming returns with new twists and sharp turns with Walter Cruz returning as the lead character. Following the trauma of the war and the Homecoming initiative, Walter, a humble soldier, who thought he would benefit from the program, begins to realize that there’s an even more insidious version of the program underway – if only he can remember.

“Both me and my on-screen character Jackie in Homecoming Season 2 have a witty sense of humor”, Janelle Monáe, said “I think Jackie is very serious about whatever job she takes on and being someone who is in the business. I take things very seriously. I think that we both can be very witty at times. Moreover, I’m told that I have a great sense of humor, and I think she does too. I’m also told that Jackie has always been a leader, not a follower, and I consider myself to be a leader. We both are extremely ambitious people.” Janelle Monáe added “I’m super honored to be working with Stephan. This guy has a lot of different levels to his artistry and as an actor and storyteller, I’m super honored to share frames with him.”

Actor, Stephen James, said, “Oh man, I am very excited about the new season of Homecoming because Walter’s character takes a 180-degree turn and that’s been really interesting for me to dive into as an actor. I think the first season he was sort of naïve, gullible, and definitely got taken advantage of. In this season, we see a more dogged, determined sort of Walter who has figured out what he is, and he’s looking for revenge. Hence, it is very exciting.” He continued, “The season 2 of the show is very similar to the first season with a unique subject line. The characters are different even though we see Hong’s character again. It’s a very different reflection of what we’d seen in the first season. And of course, we see Walter again but in a very different Walter than what we experienced in the first season.”

Synopsis:

NEW MYSTERY. Good intentions. Erratic bosses. Mounting paranoia. Unforeseen consequences spiraling out of control.

Homecoming’s co-showrunners and executive producers are Eli Horowitz and Micah Bloomberg, who are also the creators of the Gimlet Media podcast upon which the show is based. All episodes of the second season are directed by Kyle Patrick Alvarez, who also serves as Executive Producer. Homecoming Season 2 stars Janelle Monáe, Stephan James, Oscar-winner Chris Cooper, Emmy-winner Joan Cusack, and Hong Chau, among others.

Bollywood

On International Transphobia and Homophobia Day Arunabh Kumar who is known as the Founder of TVF, has a surprising anecdote for his admirers. Many would not know that he did one small cameo in Farah Khan’s Om Shanti Om as a transgender. He started his career assisting Farah Khan as an assistant director in 2007. “A song shoot was going on and Farah has a habit of making very interesting and inclusive cameos in the film.

She asked if anyone was up to play the role of a transgender person in a scene for the movie but the whole set refused and there were also people who made fun of the entire affair,” recollects Arunabh. Currently busy with his comic book, Indusverse series and also for working towards helping migrants in India who are suffering due to lockdown, Arunabh feels that humanity comes first.

Coming from a small town he recollects how his homosexual friends were scared about disclosing their sexual preferences due to social structure. “I was taken aback as I have homosexual friends since I was in a Hostel in my school days. I have seen how it has been very tough for them to get out of the closet for the fear of being ridiculed,” says Arunabh Kumar. He took a strong stand against the on-going jokes of playing the cameo for the film and decided to step in and played the role himself. He recollects, “I went up to Farah ma’am and gladly volunteered to play the role. She thought I was brave and encouraged me. I went and did a proper makeup and costume and even connected with a friend of mine who is a transgender for some small tips.”

Taking us through the shot, he adds, “I got dressed and walked onto the set. While there were few giggles there was suddenly the faint sound of an applause starting followed by more. I felt happy and confident which helped me to do the scene confidently aided by Farah ma’am’s brilliant direction,”. Apparently, the scene was for one of the most popular dialogues from the iconic film ‘EK chutki sindoor ki keemat tum kya jaano…’

Arunabh Kumar recently announced his engagement with Shruti Ranjan after dating her for 13 years. He feels that as a society we need to change our perspective before we expect others to change. “I have always felt that the LGBTQIA community has been marginalised and made to feel alien. But on the contrary, they are exactly people like us and it’s about time that this taboo should vanish from the society.

I have had the fortune of having friends from this community since school and college days and it was this proximity with them in an everyday environment that made me think of them just as any other human being with their own preferences. I wish that this day always reminds us to embrace everyone with equal warmth and make the community more inclusive in our culture, art and our lives. That is when we will be able to stop needing this day,” he shares.