July 2, 2020
Home Archive by category Daily Photo

Daily Photo

Art-n-Culture Daily Photo
चित्र – नीरज गौड़

आओ भविष्य को दें पोषण, दें उम्मीद के पर

हर ओर छाया कहर है,
बचा ना कोई पहर है ||

जीवन है बेबस खड़ा,
कमजोर, पर है फिर भी अड़ा ||

साल हुआ शुरू था, उम्मीदों का था बिछोना,
क्या पता था, है आगे कोरोना ||

जिंदगी सिमटी, आया उम्फान,
आगे खड़ा अभी निसर्ग तूफान ||

धरती भी रह रहकर डोलती है,
जाने क्या हमसे बोलती है ||

शायद प्रलय की ये झाँकी है,
हाय, अभी और क्या देखना बाकी है ||

पर दीप ह्रदय में अभी जलता है,
स्वस्थ जीवन का स्वप्न अभी भी पलता है ||

प्रलय अंत नहीं शुरुआत है,
ये नये दिन से पहले की रात है ||

तपस्वी सा अड़ा हुआ हूँ पथ पर,
चल रहा हूँ उम्मीद के रथ पर ||

आओ अंधेरे को, मुश्किलों को मिलकर लें हर,
आओ भविष्य को दें पोषण, दें उम्मीद के पर |

लेखक – विक्रम गौड़