September 21, 2020
Home Archive by category Daily Photo

Daily Photo

Art-n-Culture Daily Photo

Awaiting monsoon
Downpour no bars
Dancing bliss

Myself home confined
Standing next to glass covered airy aperture
Admiring in fascination
Tiny droplets falling on each leave
Heard outside , A joyous screech of little kid
Folding hands full of ice

A urban lady
Concealed in umbrella
Saving dress for eye
Clutching Umbrella

Man walking neighbour
Concealed in Umbrella
Lot of time in hand
Soaking freshness inside outside .

Writer – Shipra Dhingra

Art-n-Culture Daily Photo
चित्र – नीरज गौड़

आओ भविष्य को दें पोषण, दें उम्मीद के पर

हर ओर छाया कहर है,
बचा ना कोई पहर है ||

जीवन है बेबस खड़ा,
कमजोर, पर है फिर भी अड़ा ||

साल हुआ शुरू था, उम्मीदों का था बिछोना,
क्या पता था, है आगे कोरोना ||

जिंदगी सिमटी, आया उम्फान,
आगे खड़ा अभी निसर्ग तूफान ||

धरती भी रह रहकर डोलती है,
जाने क्या हमसे बोलती है ||

शायद प्रलय की ये झाँकी है,
हाय, अभी और क्या देखना बाकी है ||

पर दीप ह्रदय में अभी जलता है,
स्वस्थ जीवन का स्वप्न अभी भी पलता है ||

प्रलय अंत नहीं शुरुआत है,
ये नये दिन से पहले की रात है ||

तपस्वी सा अड़ा हुआ हूँ पथ पर,
चल रहा हूँ उम्मीद के रथ पर ||

आओ अंधेरे को, मुश्किलों को मिलकर लें हर,
आओ भविष्य को दें पोषण, दें उम्मीद के पर |

लेखक – विक्रम गौड़